स्वर्ग में कैसे जाना

- - आप कैसे जान सकते हैं कि आप स्वर्ग में जा रहे ह
- - स्वर्ग जाने के लिए कौन जाता ह
- - स्वर्ग में जाने के लिए इंसानों से परमेश्वर क्या चाहता ह
- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -

शायद आप सोच रहे हैं कि स्वर्ग में जाने के लिए परमेश्वर ने क्या आवश्यकताएं हैं।

भगवान वह है जो फैसला करता है कि कौन स्वर्ग में प्रवेश करेगा।

और उसने पवित्र बाइबिल में निर्धारित आवश्यकताओं का उपयोग किया है।

भगवान रोमन ३:२३ में कहते हैं "क्योंकि सभी ने पाप किये है और सभी परमेश्वर की महिमा से रहित है।"

हर व्यक्ति विफल रहता है और हमारे पापों के कारण स्वर्ग में परमेश्वर की महिमा में प्रवेश नहीं कर सकता।

ईश्वर को लोगों को अपने जीवन के दौरान किए गए हर पाप के लिए दंडित करना चाहिए।

यह सजा नरक में और अनंत काल के लिए होगी।

परन्तु परमेश्वर ने तुम्हारे लिये एक प्रस्ताव बनाया है।

इस प्रस्ताव में, आप अपने सभी पापों की क्षमा प्राप्त कर सकते हैं और नरक में कोई शाश्वत दंड नहीं पा सकते हैं।

यूहन्ना ३:१६ "परमेश्वर को जगत से इतना प्रेम था कि उसने अपने एकमात्र पुत्र को दे दिया, ताकि हर वह आदमी जो उसमें विश्वास रखता है, नष्ट न हो जाये बल्कि उसे अनन्त जीवन मिल जाये।"

क्रूस पर मरने के लिए ईश्वर ने अपने पुत्र, परिपूर्ण पापहीन यीशु मसीह को भेजा।

क्रूस पर अपनी मृत्यु के माध्यम से, यीशु ने उस प्रत्येक व्यक्ति के पापों के लिए सजा प्राप्त की, जो उस पर विश्वास करते हैं।

१ कुरिन्थियों १५:३ "जो सर्वप्रथम बात मुझे प्राप्त हुई थी, उसे मैंने तुम तक पहुँचा दिया कि शास्त्रों के अनुसार: मसीह हमारे पापों के लिये मरा और उसे दफना दिया गया। और शास्त्र कहता है कि फिर तीसरे दिन उसे जिला कर उठा दिया गया।"

सबूत के रूप में कि यीशु ने सफलतापूर्वक विश्वासियों के पापों के लिए सजा का भुगतान किया, वह तीसरे दिन मृतकों से उठाया गया था।

प्रेरितों के काम १६:३१"उन्होंने उत्तर दिया, “प्रभु यीशु पर विश्वास कर। इससे तेरा उद्धार होगा-तेरा और तेरे परिवार का।”"

प्रेरितों के काम ४:१२ "किसी भी दूसरे में उद्धार निहित नहीं है। क्योंकि इस आकाश के नीचे लोगों को कोई दूसरा ऐसा नाम नहीं दिया गया है जिसके द्वारा हमारा उद्धार हो पाये।”"

यीशु के माध्यम से, भगवान अब आपको उद्धार की पेशकश कर रहे हैं, जिसे स्थायी रूप से नरक में अनन्त दंड से माफ़ किया जा रहा है और इसके बजाय भगवान के साथ सदा के रहने के लिए स्वर्ग में प्रवेश कर रहा है।

क्या आप यीशु मसीह पर अपना विश्वास रखने के लिए तैयार हैं, कि वह अपने पापों के लिए सज़ा का भुगतान करने के लिए क्रूस पर मर गया, और तीसरे दिन वह मरने से उठ गया?

आप इसे अब भगवान से प्रार्थना में व्यक्त कर सकते हैं, और आप ईमानदार होना चाहिए।

* * * * * * * * * *

प्रिय भगवान, मुझे पता है कि मैं पापी हूँ, और मुझे हमेशा के लिए सज़ा दी जानी चाहिए।

लेकिन अभी मैं यीशु पर विश्वास करता हूं, कि मेरे पापों की सजा लेने के लिए वह क्रूस पर मर गया, और वह तीसरे दिन मृतकों से गुलाब हो गया।

तो क्रूस पर यीशु की बलि की मौत के माध्यम से कृपया मेरे पापों को मुझे माफ कर दो ताकि मैं स्वर्ग में अनन्त जीवन प्राप्त कर सकूं।

धन्यवाद। तथास्तु।

* * * * * * * * * *

यदि आप वास्तव में यीशु मसीह पर अपना विश्वास रखते हैं, तो ईश्वर के अनुसार, उसकी पवित्र बाइबल में, आपके पास अनन्त जीवन है।

अब जब तुम स्वर्ग में अनन्त जीवन प्राप्त करोगे जो कि यीशु से निशुल्क है, तो आप यह जानना चाहेंगे कि परमेश्वर पवित्र बाइबल के नए नियम में क्या सिखाता है ताकि आप इस विश्वास में बढ़ने और परिपक्व हो सकें।

यीशु तुम्हारे लिए मर गया।  तो अब आभार में आपको उसके लिए अपना जीवन जीना चाहिए।

- - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - - -
यह दस्तावेज़ वेबसाइट से है 
www.BelieverAssist.com
अंग्रेजी में वेबसाइट के लिए एक लिंक।